ऑनलाइन बैठक

मेन्‍यू

अगला

Hindi Christian Movie "मेरे काम में दखल मत दीजिए" अंश 5 : फरीसियों की परमेश्‍वर के विरोध की सच्‍चाई को उजागर करना

2,139 08/03/2020

जब प्रभु यीशु प्रकट हुआ और उसने अपना कार्य किया, तब यहूदी याजकों, शास्त्रियों और फरीसियों ने प्रभु यीशु को बेतहाशा बदनाम, दण्डित और तिरस्कृत किया। उन्‍होंने प्रभु यीशु को सलीब पर कीलों से ठोक दिया और लोगों को प्रभु यीशु को स्‍वीकार करने से रोका। अंत के दिनों में, परमेश्‍वर पुन: देहधारी हो गया है। वह प्रकट हो गया है और कार्य कर रहा है। धार्मिक मण्डलियों के पादरी और एल्‍डर्स फ़िर से परमेश्‍वर के अंत के दिनों के कार्य का बेतहाशा विरोध और उसकी निंदा करते हुए, विश्‍वासियों को सर्वशक्तिमान परमेश्‍वर को स्‍वीकार करने से किसी भी कीमत पर रोक रहे हैं। परमेश्वर के दोनों देहधारणों, जब वह प्रकट हुआ और जब उसने कार्य किया, को धार्मिक अगुआओं से विरोध और निंदा क्‍यों मिली? धार्मिक अगुआओं के विरोध का स्रोत और उसकी वास्‍तविक प्रकृति क्‍या है?

उत्तर यहाँ दें