ऑनलाइन बैठक

मेन्‍यू

ईसाई प्रार्थना

प्रार्थना के अभ्यास के बारे में
प्रार्थना के अभ्यास के बारे में
परमेश्वर की इच्छा के अनुरूप कैसे प्रार्थना करें
एक ईसाई के रूप में, क्या आप जानते हैं कि परमेश्वर से प्रार्थना कैसे करें?
क्यों उपवास और प्रार्थना चर्च में वीरानी के मुद्दे को हल नहीं कर सकते
क्यों उपवास और प्रार्थना चर्च में वीरानी के मुद्दे को हल नहीं कर सकते
दैनिक प्रार्थना: 4 सिद्धांत कैसे ईसाई परमेश्वर से प्रार्थना करें
दैनिक प्रार्थना: 4 सिद्धांत कैसे ईसाई परमेश्वर से प्रार्थना करें

हिंदी बाइबल स्टडी

परमेश्वर पीड़ा क्यों देते हैं? अपने जीवन के लिए परमेश्वर की इच्छा को जानें।
बुद्धिमान कुँवारियों को प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत कैसे करना चाहिए?
बाइबिल के अनुसार, दुनिया के अंत के संकेत दिखाई दिए हैं। हम प्रभु का स्वागत कैसे कर सकते हैं?
प्रभु यीशु के पुनरागमन के दो तरीके हैं: क्‍या आप जानते हैं?
अंत के दिनों में प्रभु किस प्रकार वापस लौटेंगे?
चीजें नहीं जोड़ने के बारे में बाइबल में प्रकाशितवाक्य 22:18 में गद्यांश का मतलब

ईसाई उपदेश

महान आपदाओं में परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करें
अंतिम दिनों के संकेत(चिह्न) प्रकट हुए हैं: महान क्लेश में परमेश्वर के द्वारा कैसे सुरक्षित रहें!
परमेश्वर पीड़ा क्यों देते हैं?
परमेश्वर पीड़ा क्यों देते हैं? अपने जीवन के लिए परमेश्वर की इच्छा को जानें।
क्या परमेश्वर उन पापों को क्षमा करते हैं जिन्हें आप दोहराना जारी रखते हैं?
क्या परमेश्वर उन पापों को क्षमा करते हैं जिन्हें आप दोहराना जारी रखते हैं?
बाइबल में क्लेश हुआ है। हमें परमेश्वर की इच्छा को कैसे ढूंढना चाहिए?
बाइबल में क्लेश हुआ है। हमें परमेश्वर की इच्छा को कैसे ढूंढना चाहिए?

विषय के अनुसार बाइबल के पद

10 जून, 2021 को प्रकट होने वाला वलयाकार सूर्य ग्रहण: बाइबल की भविष्यवाणी को पूरा करना
यीशु मसीह के द्वितीय आगमन के बारे में बाइबल के 58 सर्वोत्तम पद
यीशु मसीह के द्वितीय आगमन के बारे में बाइबल के 58 सर्वोत्तम पद
परमेश्वर से प्रार्थना कैसे करें, से संबंधित बाइबल के 10 पद
परमेश्वर से प्रार्थना कैसे करें, से संबंधित बाइबल के 10 पद
बाइबिल छंद: पश्चाताप और स्वर्ग के राज्य में प्रवेश के बीच संबंध
बाइबिल छंद: पश्चाताप और स्वर्ग के राज्य में प्रवेश के बीच संबंध

यीशु मसीह को जानना

यीशु के पुनरुत्थान का क्या महत्व है?
यीशु के पुनरुत्थान का क्या महत्व है?
यीशु के पुनरुत्थान और प्रकटन का महत्व जानने के लिए यह लेख पढ़ें और आप मानवजाति को बचाने के लिए परमेश्वर के सच्चे इरादे को समझ पाएंगे, आप उनके प्रेम और उद्धार को महसूस कर पाएंगे।
अपने पुनरुत्थान के बाद यीशु रोटी खाता है और पवित्रशास्त्र समझाता है
अपने पुनरुत्थान के बाद यीशु रोटी खाता है और पवित्रशास्त्र समझाता है
13. अपने पुनरुत्थान के बाद यीशु रोटी खाता है और पवित्रशास्त्र समझाता है लूका 24:30-32 जब वह उनके साथ भोजन करने बैठा, तो उसने रोटी लेकर धन्यवाद किया और उसे तोड़कर उनको देने लगा। तब उनकी आँखें खुल गईं;...
यीशु मसीह का फोटो
क्या आप जानते हैं कि मसीह क्या है और मसीह का सार क्या है?
हम सब “मसीह” शब्द को जानते हैं, लेकिन कुछ ही जानते हैं कि मसीह क्या है और मसीह का सार क्या है। जवाब जानने के लिए यह लेख पढ़ें।
अपने पुनरुत्थान के बाद अपने चेलों के लिए यीशु के वचन
अपने पुनरुत्थान के बाद अपने चेलों के लिए यीशु के वचन
यूहन्ना 20:26-29 आठ दिन के बाद उसके चेले फिर घर के भीतर थे, और थोमा उनके साथ था; और द्वार बन्द थे, तब यीशु आया और उनके बीच में खड़े होकर कहा, "तुम्हें शान्ति मिले।" तब उसने थोमा से कहा, "अपनी उँगली यह...

आस्था प्रश्न व उत्तर

बुद्धिमान कुँआरियों का इनाम क्या है? मूर्ख कुँआरियाँ आपदा में क्यों गिरेंगी?
आप कहते हैं कि अंतिम दिनों के दौरान, ईश्वर प्रत्येक व्यक्ति को उसके प्रकार के अनुसार वर्गीकृत करने के लिए, अच्छे को पुरस्कृत करने और बुरे को दंडित करने के लिए, पुराने युग को समाप्त करने के लिए, न्याय का कार्य करता है, और अंत में, मसीह का राज्य पृथ्वी पर साकार होगा। पृथ्वी पर मसीह का राज्य कैसे प्रकट होगा? और उस राज्य की सुंदरता किसके जैसी दिखेगी?
दुनिया भर में आपदाएँ अक्सर हो रही हैं, और वे पैमाने में बड़ी होती जा रही हैं, अंतिम दिनों के आगमन की अग्र-सूचना देते हुए। बाइबल कहती है, "सब बातों का अन्त तुरन्त होनेवाला है" (1 पतरस 4:7)। हम जानते हैं कि जब अंतिम दिनों में परमेश्वर लौटेगा, तो वे अच्छे को पुरस्कृत तथा बुरे को दंडित करेगा, और लोगों के अंत का निर्धारण करेगा। तो वह कैसे अच्छे को पुरस्कृत और बुरे को दंडित करेगा, और वह लोगों के अंज़ामों को कैसे निर्धारित करेगा?
आज आपदाएँ बढ़ती गंभीरता और आवृत्ति के साथ हो रही हैं। ये संकेत बताते हैं कि बाइबल में जिनकी भविष्यवाणी की गई है, अंतिम दिनों की वे महान आपदाएँ शुरू होने वाली हैं। इन आपदाओं के बीच हम कैसे परमेश्वर की सुरक्षा हासिल कर, बचे रह सकते हैं?
प्रभु यीशु ने एक बार कहा था: "क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूँ। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूँ, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहाँ ले जाऊँगा कि जहाँ मैं रहूँ वहाँ तुम भी रहो" (यूहन्ना 14:2-3)। प्रभु यीशु पुनर्जीवित हुए और हमारे लिये एक स्थान तैयार करने स्वर्ग लौटे, इसका अर्थ ये हुआ कि वो स्थान स्वर्ग में है। अगर प्रभु लौट आए हैं, तो उनका आना, हमें स्वर्ग में आरोहित करने के लिये होना चाहिये, पहले हमें प्रभु से मिलवाने, आसमान में ऊपर उठाने के लिये होना चाहिये। अब तुम लोग इस बात की गवाही दे रहे हो कि प्रभु यीशु लौट आये हैं, वे देहधारी हुए हैं, और धरती पर वचन बोलने और कार्य करने में लगे हैं। तो वो हमें स्वर्ग के राज्य में कैसे लेकर जाएंगे? स्वर्ग का राज्य धरती पर है या स्वर्ग में?
बाइबिल के अनुसार, दुनिया के अंत के संकेत दिखाई दिए हैं। हम प्रभु का स्वागत कैसे कर सकते हैं?