ऑनलाइन बैठक

मेन्‍यू

अगला

Hindi Christian Movie "मायाजाल को तोड़ दो" अंश 6 : क्या पादरियों और बुजुर्गों की आज्ञा मानना ही परमेश्वर की आज्ञा मानना है?

1,705 13/05/2020

कुछ विश्वासियों का मानना है कि धार्मिक जगत के सभी पादरियों और एल्‍डर्स को प्रभु द्वारा चुना गया और नियुक्त किया गया है, और यह कि ये सभी वे लोग हैं जो प्रभु की सेवा करते हैं। इसलिए वे मानते हैं कि केवल पादरियों और एल्‍डर्स की आज्ञा मानना ही प्रभु की आज्ञा मानना है, और यह कि पादरियों और एल्‍डर्स की निंदा या उल्लंघन करना प्रभु की निंदा करना है। वे यह भी मानते हैं कि, कलीसियाओं में, केवल पादरी और एल्‍डर्स ही बाइबल का अर्थ समझते हैं और बाइबल की व्याख्या कर सकते हैं, और जब तक पादरियों और एल्‍डर्स द्वारा दिए जाने वाले उपदेश या किए जाने वाले कर्म, बाइबल के अनुसार हैं और बाइबल पर आधारित हैं, तब तक लोगों को उनकी आज्ञा मान कर उनका अनुसरण करना चाहिए। तो क्या पादरियों और एल्‍डर्स के प्रति इस प्रकार की आज्ञाकारिता सत्‍य के अनुसार है? क्या बाइबल के ज्ञान की समझ सत्य की समझ और परमेश्वर के ज्ञान का प्रतिनिधित्व करती है? पादरियों और एल्‍डर्स के प्रति हमें किस प्रकार का दृष्टिकोण रखना चाहिए जो कि परमेश्‍वर की इच्‍छा के अनुसार हो?

उत्तर यहाँ दें