ऑनलाइन बैठक

मेन्‍यू

अगला

Hindi Christian Movie | मर्मभेदी यादें

14,021 20/05/2020

फैन गुओई चीन में हाउस चर्च का एक एल्डर था। बीस वर्ष से अधिक की सेवा के दौरान, उसने हमेशा पौलुस का अनुकरण किया, और कठोर श्रम किया तथा पूरे उत्साह से प्रभु के लिए व्यय किया। इसके अलावा, वह दृढ़ता से मानना था कि इस तरह अपनी आस्था को जारी रख कर, वह स्वर्गिक पिता की इच्छा को पूरा कर रहा है, और यह कि जब प्रभु वापस आएगा तो उसे निश्चित रूप से स्वर्ग के राज्य में आरोहित किया जाएगा। हालाँकि, जब उसे सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अंत के दिनों का उद्धार एकाएक मिला तो वह अपनी धारणाओं पर टिका रहा। उसने बार-बार के अंत के दिनों परमेश्वर के कार्य को अस्वीकार किया, उसका विरोध और तिरस्कार किया... बाद में, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के चर्च के उपदेशकों के साथ अनेक वाद-विवादों से गुज़रने के बाद, फैन गुओई सत्य के प्रति जागृत हुआ, तब उसे सचमुच समझ में आ गया कि स्वर्गिक पिता की इच्छा को पूरा करने का क्या अर्थ है, और साथ ही किस तरह से अपनी आस्था को इस तरह जारी रखना चाहिए जो उसे उद्धार प्राप्त करने और स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने में सक्षम बनाए...। हर बार जब भी उसे याद आता कि वह अतीत में क्या था, तो वे यादें उसके हृदय में काँटों की तरह चुभती...

उत्तर यहाँ दें