ऑनलाइन बैठक

मेन्‍यू

अगला

2021 Hindi Christian Testimony Video | "बीमारी का फल" | Seeing God's Blessings Amid Illness

0 12/09/2021

परमेश्वर में अपनी आस्था पा लेने के बाद मुख्य किरदार अपने आप को अंधाधुंध खपाती है। दूसरों के उपहास और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के उत्पीड़न के बावजूद वह अपने कर्तव्य में जुटी रहती है। इसलिए वह ऐसा सोचती है कि वह परमेश्वर के प्रति समर्पित है और निश्चित ही स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करेगी। लेकिन फिर एक दिन, एक जांच से पता चलता है कि उसे कैंसर है। वह परमेश्वर को लेकर गलतफहमी की शिकार हो जाती है और उसे दोष देते हुए दुख में डूब जाती है...। परमेश्वर के वचनों के न्याय और प्रकाशन का अनुभव करने के बाद, उसकी समझ में आता है कि उसने जो त्याग किए थे, अपने आप को जितना खपाया था, वह सब आशीष पाने के लिए था—वह परमेश्वर के साथ सौदेबाजी कर रही थी, उसे इस्तेमाल करते हुए और उसे धोखा देने की कोशिश कर रही थी। वह पश्चाताप और आत्म-ग्लानि से भर जाती है, और प्रायश्चित करना और बदलना चाहती है। इस बीमारी से गुजरने के बाद, उसे क्या समझ में आता है, और उसे क्या फल प्राप्त होता है? यह जानने के लिए इस वीडियो को देखें।

उत्तर यहाँ दें